समर्थक

गुरुवार, 26 मई 2011

एक्यूप्रेशर चिकित्सा पद्धति का परिचय

एक्यूप्रेशर 


 एक्यूप्रेशर  यह विभिन्न रोगों के इलाज का सबसे प्राचीन और सरल चीनी प्रणाली है मुख्य रूप से की वजह से (नकारात्मक) यिन और यांग के शरीर में (सकारात्मक) बलों असंतुलन के कारण होता ह  उपचार एसीयू अंक के माध्यम से जो यिन यांग बलों संतुलित कर रहे हैं पर उंगली दबाव लागू करने के द्वारा किया जाता है. एक्यूप्रेशर एक प्राचीन स्वयं स्वास्थ्य तकनीक है कि व्यापक रूप से हजारों साल के लिए उन्मुख भर में इस्तेमाल किया है और जो दुनिया भर में लोकप्रिय हो गया है पिछले कई वर्षों के लिए दुनिया है एक्यूप्रेशर की जड़ आत्मा में है  'मनुष्य की आत्मा स्वर्ग से संपन्न है शारीरिक ऊर्जा पृथ्वी से संपन्न है  
 मतलब जिससे आदमी बनाया है जिससे बीमारी का मतलब होता है जिससे आदमी का मतलब है ठीक है मतलब है जिससे बीमारी पैदा होती है शरीर पलटा केंद्रों सभी सिद्धांत और उपचार के आधार हैं पांच तत्व लकड़ी अग्नि पृथ्वी धातु, पानी प्रकृति के सभी घटनाएं घेरना यह एक प्रतीक है कि खुद को लागू होता है आदमी को समान रूप से ह

वहाँ 7200 में एक पैर तंत्रिका अंत कर रहे ह शायद इस तथ्य बताते हैं इसलिए हम इतना बेहतर है जब हमारे पैर व्यवहार कर रहे हैं लग रहा ह पैर में तंत्रिका अंत स्पाइनल कॉर्ड और मस्तिष्क शरीर के सभी क्षेत्रों के साथ है और इसलिए साथ व्यापक
interconnectionsहै निश्चित रूप से चरणों में तनाव जारी है और स्वास्थ्य को बढ़ाने के अवसर का एक सोने की खान हैं हर कोई है जो करने के लिए शरीर की सजगता संवेदनशीलता को समझना चाहता है सीखना चाहिए

इस प्रशिक्षण के साथ एक व्यक्ति को आसानी से आगे बढ़ने कर सकते हैं और पलटा काम के अन्य रूपों के लिए सीख लो संवेदनशीलता की प्रणाली सुरक्षित है, और बहुत सारे मामलों में जहां अन्य चिकित्सा करने के लिए परिणाम लाने में नाकाम रहे हैं में कारगर है इस कोर्स करने से आप एक स्वस्थ जीवन के लिए अपनी खोज में वृद्धि होगी हम इस प्राचीन विज्ञान और कला का रहस्य दूर स्पष्ट और आसान शब्दों में अपने मूल सिद्धांत है और अभ्यास समझा जाएगा

एक्यूप्रेशर प्रकृति के स्वास्थ्य हमारे शरीर में निर्मित विज्ञान है एक्यूप्रेशर चिकित्सा में आप कुछ हथेलियों और तलवों पर स्थित बिंदुओं पर दबाव लागू है अंक पर दिया दबाव के लिए बीमारी को रोकने के लिए अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के शरीर के सभी अंगों को उत्तेजित करता है इस थेरेपी भी हमें सक्षम बनाता है पता लगाने के लिए और स्थायी रूप से रोग का इलाज

                            
http://www.hamsinstitute.com/education/courses/BDAT.htm

 
एक्यूप्रेशर एक ऐसा प्राकृतिक तरीका जिसके द्वारा सभी तरह की बीमारियों का इलाज बिना दवाई के होता हैं आगे आपको एक्यूप्रेशर की विशेषताऐ बताएगे   
                                                               क्रमश:1 
एक निवेदन आपसे :- पोस्ट में कोई कमी लगे तो बता देना जी ये मेरी पहली पोस्ट है अगर  ये पोस्ट आपको अच्छी लगी है तो मेरे ब्लॉग के समर्थक (Followers) बने ... धन्यवाद   

31 टिप्‍पणियां:

  1. दोस्तों नमस्कार
    आज ये मेरी पहली पोस्ट है,

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप की भाषा समझ में नहीं आई| धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  3. Patali-The-Villag

    PATALI THE VILLEG APKO DANWAD (THANKS) JO GALTI KO SAHI TIME PAR MUJHE BATA DIYA,
    APP KA KAHNA TEEK THA MENE JIS FONT ME TIYP KARI THI WO FONT HAR COMPUTER MAIN SAVE NAHI HONE KI WAJAH SE APPKO BHASA SAMAJ NAHI AA RAHI HOGI PAR AB KOSIS KARUGA KI AAPKO SAHI FONT MEIN POST KARO

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत बढ़िया जानकारी! हिन्दी में ऐसी जानकारी का अभाव है! पढ़ कर बहुत खुशी हुई!

    उत्तर देंहटाएं
  5. कल आपके ब्लॉग की भाषा समझ में नहीं आई इस लिए टिप्पणी नहीं की थी!

    उत्तर देंहटाएं
  6. कृपया अपने ब्लॉग पर से वर्ड वैरिफ़िकेशन हटा देवे इससे टिप्पणी करने में दिक्कत और परेशानी होती है!

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपके ब्लॉग पर विसित कीया बहुत अच्छा लगा शायद अपनी तरह का यह पहला ब्लॉग है ! जीसमे कुछ अलग

    तरह की जानकारी है , ब्लॉग जगत मे आपका स्वागत है ! दोस्तों मुझे यह बताते हुए बहुत खुसी हो रही है ! की

    Mr.S.P.Singh.पहले से ही कई समाज सेवा संसथाओ से जुड़े हुए है ,उसी दीसा मे सायद उनका ये अगला कदम है

    मे उन्हें तहे दील से मुबारक देता हु

    उत्तर देंहटाएं
  8. अब बात बनी है | धन्यवाद|

    उत्तर देंहटाएं
  9. एक्यूप्रेशर के बार में जानकर अच्छा लगा...ये अत्यंत लाभकारी है

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत आभार धन्यवाद ... कुछ मैंने भी आजमाया हुआ है

    उत्तर देंहटाएं
  11. कृपया वर्ड वेरिफिकेशन हटा लें! टिप्पणीकर्ता को सरलता होगी
    वर्ड वेरिफिकेशन हटाने के लिए

    डैशबोर्ड > सेटिंग्स > कमेंट्स > वर्ड वेरिफिकेशन को NO करें ..Save करें .. हो गया

    उत्तर देंहटाएं
  12. स्वास्थ्य के लिए उपयोगी जानकारी. मुझे इसी से स्पाँडिलाइसिस से आराम आया था. आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  13. एक्यूप्रेशर इलाज का एक बेहतरीन तरीक़ा है। मैं इसके ज़रिए इलाज कराता हूं।
    सु-जोक इसी की एडवांस शक्ल है। मेरे गुर्दे के पास के पठ्ठों में खिंचाव आ गया था। जो 7 साल तक बना रहा और किसी तरीक़े से भी नहीं गया। सभी उपचार पद्वतियां फ़ेल हो गई थीं। तब अलीगढ़ के चंद्रवंशी जी का कैम्प हमारे शहर के एक मंदिर में लगा। मैं उनके पास गया। उन्होंने मेरा हाथ पकड़कर गुर्दे का पॉइंट दबाकर पूछा-‘क्या अब भी दर्द है ?‘
    हैरत की बात है। एक सेकंड में दर्द ख़त्म हो गया था। उन्होंने प्रेशर हटाया तो दर्द फिर आ मौजूद हुआ। उन्होंने उसी जगह मटर का दाना टेप से चिपका दिया और कुछ मेग्नेट भी अलग-अलग पॉइंट्स पर लगा दीं। दस दिन से भी कम दिनों में दर्द जाता रहा और फिर कभी पलटकर नहीं आया।
    आपने इतनी अच्छी जानकारी दी। आपका शुक्रिया।
    http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/05/blog-post_28.html

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत लाभदायक जानकारी .

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत ही उपयोगी और लाभदायक जानकारी……आभार्।

    उत्तर देंहटाएं
  16. very informative post !!
    Indeed acupressure is one of the most ancient methods of treatment.

    उत्तर देंहटाएं
  17. आपने एक सुन्दर शुरुआत की है.बहुत अच्छी जानकारी मिली.धीरे धीरे आपकी भाषा भी और स्पष्ट होती जायेगी ऐसी आशा करता हूँ.

    मेरे ब्लॉग पर आईये. आपका स्वागत है.

    उत्तर देंहटाएं
  18. एक्युप्रेसर चिकित्सा सम्बन्धी लाभप्रद जानकारी .....अच्छी लगी

    उत्तर देंहटाएं
  19. बहुत अच्छी एवं जानकारी वरधक पोस्ट है आप की, मगर और अधिक कुछ कहने से पहले हिन्दी ब्लॉग जगत में आप का स्वागत है और आप स्वयं मेरे ब्लॉग के समर्थक बने उसके लिए आप का बहुत-बहुत आभार। आप का ब्लॉग पढ़ कर अच्छा लगा किन्तु मेरा मानना यह है की यदि आप संगशिप्त में लिखेंगे तो ज्यादा अच्छा होगा धन्यवाद...

    उत्तर देंहटाएं
  20. चित्र तो बढ़िया हैं!
    पोस्ट को यूनिकोड में बदलकर पोस्ट कीजिए तभी तो समझ में आयेगा कि आपने क्या लिखा है!

    उत्तर देंहटाएं
  21. बहुत उपयोगी पोस्ट...शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  22. achchhi jankari aaj bahut kuchh sikha hai
    rachana

    उत्तर देंहटाएं
  23. achchi swasthya sambandhi jaankari mili.aap mere blog par aaye uska haardik dhanyavaad.

    उत्तर देंहटाएं
  24. bahut upyogi jankari de rahe hain s.p.singh ji aabhar.aapki agli post ka intzar rahega.

    उत्तर देंहटाएं
  25. नहीं लगता है कि ये शुरुआत है, बल्कि लगता है कोई मंझा हुआ खिलाडी है, अरे दोस्त लगे रहो, अपनी भाषा को जितनी सरल रखो उतना अच्छा है,

    उत्तर देंहटाएं
  26. उपयोगी पोस्ट

    http://shayaridays.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  27. आप का स्वागत है और आप मेरे ब्लॉग के समर्थक बने उसके लिए आप का बहुत-बहुत आभार !!

    धन्यवाद...

    उत्तर देंहटाएं
  28. achhi jankari hai .

    http://mytopick.blogspot.in/p/blog-page_6959.html

    उत्तर देंहटाएं